Burger खाने वाली बहु हिंदी कहानी Part 1

कोयल को रात के खाने के बाद भी कुछ खाने की चाह रहा करती थी, जिसके चलते वो रोज कॉलेज से आते हुए वो बर्गर लाती और उसको रात को सोने से पहले खाती थी | ऐसे ही आज भी कोयल अपने कमरे में बिस्तर पर पसर कर लैपटॉप में एक सीरीज देखते हुए बर्गर खा रही थी, तभी उसमी माँ साधना वहां आकर कहती है- ” तू फिर आज बर्गर लेकर आई है खाने के लिए तेरी इस बेकार आदत से तो मैं परेसान हो गयी हूँ यु बर्गर खाना तुझे नुकसान देगा. माँ आप क्या जानो इन सर्दियो के मौसम में रात को रजाई में बैटकर सीरीज देखते हुए बर्गर खाना और उसके बाद सो जाना इन सब में कितना मज़ा है. इन सब के मज़े के लिए तू जब होस्तिपल में पड़ी होगी न तो मेरे से उम्मीद नहीं रखना की मैं तेरी दवाई करवाउंगी और याद रख लेना तेरी इस बर्गर खा कर सोने की आदत से तू हॉस्पिटल गयी तो मैं तेरा इलाज नहीं करवाउंगी ” |

burger khane wali bahu
Burger khane wali bahu

Hindi Kahani

साधना अपनी बेटी की बर्गर खा कर सोने वाली आदत से बहोत परेसान थी लेकिन कोयल के लिए ये आदत छोर पाना बहोत मुस्किल था, क्युकी सोने से पहले वो बर्गर नहीं खाती थी तो उसे नींद ही नहीं आती थी, कई बार उसने ये आदत छोरने के लिए कोसिस की थी लेकिन नाकामयाब होने पर उसने इस आदत को अपनाये रखने में ही बलाई रखी |

ऐसे ही एक दिन जब वो कॉलेज में अपने दोस्त पंकज और रिया के साथ बैठी थी तो वो भूक के चलते बर्गर किंग जाने के सोचते है और कहते है -” रिया:- चलो यार कुछ अच्छा सा खाने चलते है बर्गर किंग आज मेरा बर्गर खाने का बहोत मन कर रहा है. पंकज: हाँ यार चलते है न मेरा भी बर्गर खाने का बहोत मन कर रहा है चलो चलते है. कोयल: अब तुम दोनों का इतना मन है तो कोई नहीं चल लेते है वैसे भी भूक तो लगी है बहोत और मुझसे भूक बर्दास्त नहीं होती|

कोयल के हाँ में भरने के बाद तीनो उठकर कॉलेज से उठकर पास के बर्गर किंग जाते है जहाँ तीनो अपने लिए बर्गर खरीद कर खाने लगते है एक तरफ तो जहाँ पंकज और रिया बर्गर खाते हुए आपस में बातें करते है तो वहीँ कोयल को बर्गर खाते हुए नींद आने लगती है | और जैसे ही अपना पूरा बर्गर खतम करती है तो उसके बाद वहीँ टेबल पर सर रखकर सो जाती है और उसको हेड डाउन करते देखकर पंकज कहता है – ” अरे कोयल क्या हुआ अरे तुझे नींद आ गयी क्या, क्या हुआ उठ न ये बेहोस तो नहीं हो गयी | रिया: नहीं नहीं पंकज ये बेहोस नहीं हुई है बल्कि गहरी नींद में सो रही है लेकिन बर्गर खाने से नींद किसको आती है बर्गर में कुछ मिला रखा था क्या | पंकज: नहीं नहीं इसके वाला ही बर्गर मैंने खाया है मुझे तो कुछ नही हुआ इसे ही सायेद नींद आ गयी अब हमें इसको इसका घर छोरना पड़ेगा | रिया: अरें एक मिनट इसने अपना एक बर्गर पैक भी करवाया था वो मैं इसके बैग में डाल देती हूँ घर पर खा लेगी |

Read More:  Teri Baaton Me Aisa Uljha Jiya Full Movie Leaked On Movierulz & Telegram For Free Download

Burger खाने वाली बहु Part 1 | burger khane wali bahu

रिया कोयल द्वारा लिया और एक बर्गर उसके डाल देती है जिसके बाद पंकज कोयल को कैब करके घर लेकर जाता है जहाँ वो उसे सँभालते हुए उसके घर लेकर आता है और हाल में सोफे पर लेता देता है, अपनी बेटी को उसके दोस्त के कंधे पर आते देख साधना घबरा कर कहती है क्या हुआ पंकज बेटा ये कोयल बेहोस कैसे हो गयी |

पंकज: नहीं आंटी बेहोस नहीं है ये लेकिन पता नहीं इसे अचानक नींद कैसे आ गयी वो क्या है न मैं रिया और कोयल बर्गर किंग में बर्गर खा रहे थे और अपना बर्गर खाने के बाद कोयल ने हेड डाउन कर लिया और सायेद उसको नींद आ गयी इसीलिए मैं इसको घर छोरने आ गया |

साधना: ओहो तो ये अपनी बर्गर खा कर सोने वाली आदत से हो सो गयी कोई नहीं इस लड़की तो मैं बाद में बताती हूँ नाक में दम किया हुआ है इसने पंकज बीटा तुम्हारा बहोत बहोत सुक्रिया तुम इसको घर ले आये मैं इसको संभाल लुंगी तुम भी जाकर आराम करो | पंकज: जी ठीक है आंटी अपना ख्याल रखियेगा |

पंकज इनता बोलकर वहां से चला जाता है और साधना उस वक्त एक कम्बल लाकर कोयल को ओढा देती है, रात के लगभग 8 बजे कोयल की आँख खुलती है और वो खुद को घर में पाकर कहती है | कोयल: “अरें वाह मेरे अच्छे दोस्तों ने मुझे घर छोर दिया वाओ वैसे मेरा सामान कहाँ है ” कोयल इधर उधर अपना सामान देखती है तभी उसको अपना बैग दुसरे सोफे पर दीखता है वहां से अपना नाग उठा कर कोयल उसके अन्दर देखती है तो उसमे एक बर्गर था जिसे देखकर कोयल कहती है |

Read More:  Bade Miyan Chote Miyan Teaser Date Revealed

कोयल: ” दोस्त हो तो मेरे दोस्तों जैसे अरें मेरा पैक करवाया हुवा बर्गर भी मेरे बैग में डाल दिया है अब इसको आराम से अपने कमरे में बैठकर सीरीज देखते हुए खाऊँगी और फिर आराम की नींद सो जाउंगी”

कोयल इतना बोलते हुए दबे पाव अपने कमरे में जाने को होती है लेकिन इतने में वहां साधना आती है और उसको हातो में बर्गर लेते जाते देखकर बोलती है |

साधना: तू सुधरेगी नहीं न दिन दिहाड़े बर्गर खाते हुए तू सो गयी और फिर से बर्गर लेकर जा रही है कोयल तूने ये आदत लगाई है न तंग आ गयी हु में इससे आज तुझे मैं ये बर्गर खाने ही नहीं दूंगी |

कोयल: नहीं न माँ मुझे बर्गर खाए बिना नीन्द नहीं आएगी सची साधना: “न आये मेरी बला से पूरी रात जागकर चोकी दारी कर”

साधना इतना बोलकर कोयल से अपना बर्गर छिनती है और वहां से चली जाती है| इसके बाद अपने कमरे में बिस्तर पर सोयी कोयल को रात के 2 बजे तक नींद नहीं आती है जिसपर वो आधी रात को निचे जाकर उसके माँ ने बर्गर कहाँ छुपाया है वो खोजती है लेकिन उसे कहीं बर्गर नहीं मिलता पूरी रात उल्लू की तरह जागकर अगली सुबह कोयल तयार होकर कॉलेज के लिए निकलती है |

और रास्ते में ये बर्गर खरीद कर कॉलेज के ग्राउंड में बैठकर उसको खाती है फिर आराम से उसी ग्राउंड में लगे एक बेंच पर सो जाती है | सुबह की सोई कोयल की आखें साम को खुलती है और जब उसकी आँखे खुलती है तो उसके सामने कॉलेज के Principle थे साथ ही कई बच्चो का झुण्ड था, जिनमे उनके दोस्त पंकज और रिया भी थे ये मंजर देखकर वो बोलते है |

Read More:  Devara Teaser: The moment has come for which everyone was waiting

रिया: आज तो कोयल गयी सुबह से Principle न जाने कितनी बार इसे उठाने की कोसिस की है लेकिन इसने आखें तक नहीं खोली |

पंकज: अब तो Principle आंटी को बुलाएगा |

कोयल उठकर Principle के पीछे पीछे उसके केबिन में जाती है जहाँ पहोच कर Principle कोयल से कहता है | Principle: कोयल ये क्या हरकत है तू सुबह से साम तक कॉलेज ग्राउंड में सोने आती हो अरें तुम्हे उठाने की लिये सबने न जाने कितनी आवाज़े लगाई लेकिन तुमने आखें नहीं खोली और साम को आराम से उठी हो अरे मैं पूछता हूँ कॉलेज पढने आती हो या सोने |

कोयल: सर माफ़ करना क्या करूँ कल पूरी रात मैं सोई नहीं वो क्या है न मेरी माँ की तबियल ख़राब थी पूरी रात मैंने उनकी देखभाल की और सुबज वो ठीक हुई तब जाकर मैं कॉलेज आई लेकिन सुबह कब बेंच पर बैठे बैठे मेरी आँख लग गयी मुझे पता ही नहीं चला |

Principle: “अच्छा ऐसी बात है कोई नहीं लेकिन देखो ऐसे कॉलेज में सबके सामने सोना और पूरा दिन सोना अच्छी बात नहीं है अगली बार से ये हारकर न हो क्युकी एक बच्चे की देखा देखि से ही सब रूल तोड़ते है अभी तो मैं तुमको कोई सजा नहीं दे रहा लेकिन बहार कोई पूछे तो बोलना तुमको बहोत डांट पड़ी है” ठीक है सर |

कोयल झूट बोलकर बच जाती है और कोयल रूम से खुसी खुसी ये सोच कर निकलती है की उसके झूट के बारे में उसकी माँ को कहाँ ही पता चलेगा, लेकिन कोयल के केबिन से जाते ही Principle उसकी माँ साधना को सब बता देते है | कोयल बड़ी खुसी से अपनी नींद पूरी करके और एक बर्गर पैक करवा कर घर आती है लेकिन घर आकर वो देखती है की उसकी माँ हॉल में बैठी है और उसके सामने बहोत सारे बर्गर पढ़े है ये देखकर कोयल कहती है |

कोयल: अरें वाह माँ आज कोई पार्टी है क्या आपने इतने सारे बर्गर मंगवाए है मज़ा आ जायेगा आज तो |

इस कहानी का दूसरा भाग निचे दिया गया है |

Click Here: Home

Leave a Comment